सलमान खान की ‘टाइगर ज़िंदा है’  ने किया वाल्मीकि समुदाय के गुस्से का सामना ।

सलमान खान की ‘टाइगर ज़िंदा है’ ने किया वाल्मीकि समुदाय के गुस्से का सामना ।

Spread the love

(राजस्थान): अभिनेता सलमान खान की नई फिल्म ‘ टाइगर ज़िंदा है ‘ शुक्रवार को सिनेमाघर में रिलीज होते ही मुसीबतो से घिर गयी। राजस्थान भर के कई सिनेमा हॉल में फिल्म के मॉर्निंग शोज को रोका दिया गया। यह तब हुआ जब एक टीवी शो पर फिल्म का प्रचार करते हुए एक खास जाति के खिलाफ सलमान की अपमानजनक टिप्पणी आयी।इस बात से नाराज वाल्मीकि समुदाय के सदस्यों ने दिन भर राजस्थान, गुजरात और उत्तर प्रदेश और कई अन्य राज्यों में नारे लगा कर विरोध किया और पोस्टर जलाकर फाड़कर प्रदर्शन किया साथ ही उन्होंने अभिनेता से माफी की मांग की ।

विरोध प्रदर्शन अजमेर से शुरू हुआ और जल्द ही जयपुर और कोटा पहुंच गया, जिसकी वजह से शुक्रवार को रिलीज हुयी फिल्म के कई सिनेमा हॉल के मॉर्निंग शो रद्द हो गए। प्रदर्शनकरी ने फिल्म के पोस्टर को जलाया और फ़िल्म के कटआउट पर जूतों की बनी माला बांधते हुए नारे बजी की।इसी तरह के दृश्य बीकानेर, अजमेर और अलवर सहित राज्य के अन्य हिस्सों में देखने को मिले जहां फिल्म के पोस्टरों का जलाया जा रहा था।

सलमान खान ने फिल्म के प्रमोशन के दौरान अपने डांसिंग हुनर का जिक्र करते हुए कथित तौर पर ‘भंगी’ शब्द का इस्तेमाल किया था, जबकि शिल्पा शेट्टी ने ‘ भंगी ‘शब्द का इस्तेमाल वह घर पर कैसे देखती है के लिए किया था। वाल्मीकि, दलित समुदायों के समूह से बना है , जिनमें से कुछ भंगी, मेहतर, चुहरा, लाल बेगहि और हलालखोर हैं ।

बाद में चूरू के एक पुलिस थाने में सलमान खान और शिल्पा शेट्टी के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई।चूरू के एसपी राहुल भरत ने कहा, ‘ अत्याचार निवारण अधिनियम के तहत एफआईआर दर्ज की गई है। हमने धारा 153 ए (अलग समूह के बीच शत्रुता को बढ़ावा देना) भी शामिल की है।” हाथरस में वाल्मीकि समुदाय से लखन चटर्जी ने कहा कि SC/ST एक्ट के तहत सलमान खान के खिलाफ एक्शन लिया जाना चाहिए।साथ ही हम सलमान खान से माफी मांगे जाने तक अपना विरोध जारी रखेंगे।

टीम टी वी न्यूज़,राजिस्थान

Team TEA VEE News,Rajisthan 

Bollywood Rajisthan