क्या हो गया UP पुलिस को – “ब्लैक डे” बना कर जो आरोपियों का साथ दे रहे थे – हो गए ससपेंड

black day hindi news latest
Spread the love

उत्तर प्रदेश : एक तरफ खुद उत्तर प्रदेश पुलिस के आला अधिकारियों ने स्वीकार लिया है की उस दिन लखनऊ में जो हुआ -“विवेक तिवारी” हत्याकांड जिसमे एक निर्दोष को गोली मार दी गई , वह अपराध है और दोनों सिपाहियों को जेल भेज दिया गया है . वही दूसरी तरफ पुलिस में दो फाड़ करने के उदेश्य से कुछ दरोगा और सिपाहियों ने काली पट्टी बांध कर अपना दुख और “आरोपी सिपाहियों का साथ देने ” का संकेत दिया , जिसके चलते विवेक हत्याकांड: आरोपी सिपाही के समर्थन में ‘ब्लैक डे’ मनाने पर तीन एसओ, तीन कांस्टेबल सस्पेंड.
कार नहीं रोकने पर गोली चलाकर विवेक तिवारी की हत्या करने वाले आरोपी पुलिसकर्मी प्रशांत चौधरी के पक्ष में यूपी पुलिस के पुलिस कर्मी उतर आए हैं. आज दिन भर यूपी के कई इलाकों में पुलिसकर्मियों ने प्रशांत पर हो रही कार्रवाई के विरोध में काली पट्टी बाँध कर ब्लैक डे मनाया. यह तब हुआ जब यूपी के डीजीपी ने कहा था कि कोई भी पुलिस कर्मी ऐसा नहीं करेगा. इसके बाद भी ऐसा किया गया. इस पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करते हुए तीन एसओ व तीन सिपाहियों को निलंबित कर दिया गया है. लखनऊ के एसएसपी कलानिधि ने इनके खिलाफ विभागीय जांच के आदेश भी दिए हैं.

एसएसपी कलानिधि ने बताया कि अलीगंज के थाना प्रभारी अजय कुमार यादव, गुडंबा के प्रभारी धर्मेश कुमार व नाका कोतवाली के प्रभारी परशुराम सिंह को हटा दिया गया है. वहीँ, गुडंबा में तैनात सिपाही जितेंद्र कुमार वर्मा, अलीगंज में तैनात सुमित कुमार व नाका में तैनात गौरव चौधरी को निलंबित कर दिया गया है. इससे पहले सोशल मीडिया पर डीजीपी को चुनौती देने वाले एटा के सिपाही सर्वेश चौधरी को निलंबित कर उसके खिलाफ विभागीय कार्यवाही शुरू की जा चुकी है. यूपी पुलिस के आलाधिकारियों के अनुसार अन्य जिलों से भी ब्लैक डे मनाने वालों की लिस्ट मंगाई जा रही है.

वहीं, सोशल मीडिया पर डीजीपी को चुनौती देने वाले एटा के सिपाही सर्वेश चौधरी को निलंबित कर उसके खिलाफ विभागीय कार्यवाही शुरू की जा चुकी है। बताया गया कि मिर्जापुर व वाराणसी में विरोध प्रदर्शन करने वालों को चिह्नित करा गया है।

दोनों स्थानों पर दो बर्खास्त पुलिसकर्मियों अविनाश व बृजेंद्र के नाम सामने आए हैं। दोनों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए गए हैं। बताया जा रहा है कि इन दोनों ने शनिवार को इलाहाबाद में बैठक करने का कार्यक्रम तय किया था।

इसमें खुद को पुलिस वेलफेयर असोसिएशन का राष्ट्रीय अध्यक्ष बताने वाले बृजेंद्र ने सोशल मीडिया के जरिए सिपाहियों पर दर्ज मुकदमा वापस लेने और विरोध में अराजपत्रित पुलिसकर्मियों से 11 अक्टूबर को मेस का बहिष्कार एवं भूख हड़ताल करने की अपील की थी। उसे शुक्रवार को वाराणसी के कैंट थाना क्षेत्र से गिरफ्तार करा गया।

वहीं अमेठी में जामो थाने के इंस्पेक्टर ने फेसबुक पर विवादित टिप्पणी कर दी। बताया गया कि इस थाना प्रभारी ने अपनी टिप्पणी में डिप्टी सीएम व कानून मंत्री तक को नसीहत दे दी। अमेठी के एसपी ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं। ऐसे ही सीतापुर जिले में सिपाहियों द्वारा तंबौर थाना क्षेत्र में काला फीता बांध कर प्रदर्शन करेजाने की सूचना है।

 

जो ख़बर एटा से आ रही है आइये देखते हैं उसके बारे में – दोनों विवेक तिवारी हत्याकांड के आरोपी सिपाही प्रशांत चौधरी और संदीप के बचाव में पुलिस तंत्र से विद्रोह करने वाले एटा पुलिस लाइन में तैनात सिपाही सर्वेश चौधरी को प्रतिसार निरीक्षक चरण पाल के सरकारी आवास में नजरबंद कर दिया गया है.

परिजनों से भी नहीं मिलने दिया जा रहा है। देवेंद्र ने कहा, ‘सर्वेश का मोबाइल छीन लिया गया है, सर्वेश का कहना है कि या तो सिस्टम में सुधार हो या तो डीजीपी मुझे बर्खास्त करें, अगर ऐसा नहीं हुआ तो वह खुद इस्तीफा दे देगा।’ परिजन सर्वेश को मनाने में जुटे हैं .

आपको बता दें कि बीते पांच अक्टूबर को पुलिस से जुड़े कुछ संगठनों द्वारा इलाहाबाद और अन्य जगहों पर प्रस्तावित आंदोलन से एक दिन पहले फेसबुक पर आपत्तिजनक विडियो डालने वाले एटा के कॉन्स्टेबल सर्वेश चौधरी को निलंबित कर दिया गया था, सर्वेश चौधरी पर कार्रवाई के अलावा सोशल मीडिया पर भड़काऊ पोस्ट के जरिए फोर्स का माहौल खराब करने के आरोप में अज्ञात लोगों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराई गई थी.

सर्वेश चौधरी वर्ष 2011 बैच का सिपाही है, एटा में तैनात सर्वेश वर्तमान में खेलकूद के लिए रायबरेली की 25वीं वाहिनी पीएसी से अटैच है, विवेक तिवारी हत्याकांड के बाद सर्वेश ने अपने फेसबुक अकाउंट पर राजनेताओं, पुलिस अफसरों और मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए खुद को बर्खास्त करने की बात कही थी .

Team TEAVEE News Channel (INDIA)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: LEGAL action will be taken against you if you copy any content | TEA-VEE News is a TRADEMARK | LEGAL Dept. (Tea Vee News Channel)