latest News DGP Uttrakhand

सतर्क प्रशासन : उत्तराखंड की पुलिस भारत बंद के बाद है सतर्क – DGP (उत्तराखंड )

Spread the love

उत्तराखण्ड के पुलिस महानिदेशक (DGP) अनिल के रतूड़ी ने कहा की भारत बंद से सबक लेते हुए हमारी पुलिस पूरी तरह से सतर्क है,वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये उन्होंने अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की और प्रदेश की कानून व्यवस्था पर चर्चा की ।

DGP ने प्रदेश के सभी जनपद प्रभारियों व परिक्षेत्र प्रभारियों के साथ 10 अप्रैल को प्रस्तावित आरक्षण विरोधी कार्यक्रम, बैसाखी, अम्बेडकर जयंती एवं सोमवती अमवस्या पर्व के अवसर पर कानून व्यवस्था बनाये रखने को लेकर ये बैठक की ,इससे पहले हुए भारत बंद के दौरान रुड़की में कानून व्यवस्था के बिगड़ने के बाद इस बंद को बेहद गंभीरता से लेते हुए DGP कोई भी ऐसा कदम उठाने से नहीं चूकना चाहते जिससे पहले जैसे हालात दोबारा पैदा हों ।

पहले हुई घटना से और भी सतर्क

DGP रतूड़ी ने बताया कि सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति अधिनियम पर पारित आदेश के विरोध में कतिपय संगठनों द्वारा 2 अप्रैल 2018 को भारत बंद का आहवान किया गया था. इस दौरान देश के विभिन्न शहरों, उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती जनपदों के साथ-साथ राज्य में भी कुछ स्थानों पर बंद कराने का प्रयास, सड़क जाम, तोड़-फोड़, आपसी टकराव आदि घटनायें घटित हुयी थीं , जिसमें स्थानीय पुलिस द्वारा आवश्यक वैधानिक कार्रवाई करते हुए शान्ति व्यवस्था बनाये रखी गयी थी. फिर भी हालात रुड़की में बिगड़ गए थे जिसे बाद में काबू किया जा सका था ।

 

दिए गए ये निर्देश

DGP अनिल रतूड़ी, अशोक कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था के द्वारा वीडियों कॉन्फ्रेंसिंग में निम्न बिन्दुओं पर दिशा-निर्देश दिए…

1- समस्त जनपद प्रभारी द्वारा स्थानीय अभिसूचना तंत्र से समन्वय स्थापित कर उन्हें सर्तक रखते हुये सूचना संकलित करने हेतु निर्देशित किया गया

2- समस्त जनपद प्रभारियों को जनपदों में गठित सोशल मीडिया मॉनिटरिंग सेल की कार्यकुशलता बढ़ाते हुये सोशल मीडिया पर किये जा रहे प्रचार/दुष्प्रचार पर विशेष ध्यान दिया जाये एवं आवश्यकता अऩुसार वैधानिक कार्रवाई के लिए भी निर्देशित किया गया.

3- ऐसे व्यक्ति जो उपद्रव कर सकते हैं या लोगों को भड़काकर गलत रास्ते पर ले जा सकते हैं, ऐसे लोगों को चिन्हित करते हुये उन्हें शान्ति व्यवस्था के हित में उनके विरूध समय से निरोधात्मक व दण्डात्मक कार्रवाई की जाये तथा 107/116 सीआरपीसी के तहत हिरासत में लेने को निर्देश दिया.

4- अफवाहों को किसी भी दशा में फैलने न दिया जाये, सोशल मीडिया पर निरन्तर निगरानी रखी जाये यदि कोई भ्रामक सूचना फैलायी जाती है तो तुरन्त उसका प्रतिरोध किया जाये तथा भ्रामक सूचना फैलाने वाले के विरुद्ध कार्रवाई की जाये.

5- जनपद के थाना/चौकी, पुलिस लाईन, कार्यालयों एवं शाखाओं में नियुक्त अधिक से अधिक पुलिस बल को कानून व्यवस्था ड्यूटी में नियुक्त किया जाये.

6- पुलिस बल के पास वीडियोग्राफी की व्यवस्था हो एवं समस्त कार्रवाई की वीडियोग्राफी करायी जाये.

7- धार्मिक स्थलों एवं गणमान्य व्यक्तियों की प्रतिमाओं की सुरक्षा हेतु ऑपरेशन क्लीन-स्वीप चलाया जाये.

8- जिलाअधिकारी से समन्यव स्थापित करते हुये जनपदों में थाना/सर्किल स्तर पर शान्ति समिति की बैठक आयोजित की जाये.

9- अम्बेडकर जयन्ती के अवसर पर आयोजित होने वाली शोभायात्रा एवं जुलूस की जानकारी ली जाये एवं सुनिश्चित कर लिया जाये कि शोभायात्रा एवं जुलूस परम्परागत मार्ग से ही निकला जाये, किसी भी दशा में शोभायात्रा एवं जुलूस में कोई भी परिवर्तन न किया जाये.

10- बैशाखी एवं सोमवती अमवस्या के अवसर पर जनपद हरिद्वार में काफी श्रदालुओं का अवागमन रहेगा जिसके लिये यातायात एवं शान्ति व्यवस्था हेतु कार्ययोजना तैयार कर ली जाये, जिससें मार्गों पर जाम की स्थिति उत्पन्न ना हो सके.

इस बंद को लेकर बेहद सतर्कता बरतते हुए खुद इसकी निगरानी कर अपने साथ एडीजी ला एंड आर्डर अशोक कुमार को कानून व्यवस्था बनाने के निर्देश दिए हैं, वहीं दूसरी ओर ADG वी विनय कुमार (इंटेलिजेंस) को सभी गोपनीय सूचना पर काम करने के निर्देश दिए गए हैं ।

टीम टी वी न्यूज़ चैनल , देहरादून (उत्तराखंड )

Team TEA VEE News Channel, Dehradun (Uttrakhand)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: LEGAL action will be taken against you if you copy any content | TEA-VEE News is a TRADEMARK | LEGAL Dept. (Tea Vee News Channel)